मुझे किसी से प्यार नहीं Mujhe Kisi Se Pyar Nahi Lyrics – Manoj Muntashir, Papon

Mujhe Kisi Se Pyar Nahi Lyrics | Jagjit Singh | Manoj Muntashir Deepak Pandit 'Papon' | LyricsDiary.in - Papon Lyrics

Mujhe Kisi Se Pyar Nahi Lyrics – Manoj Muntashir, Papon
Ghazal Title Mujhe Kisi Se Pyar Nahi
Singer Papon
Music Manoj Muntashir
Ghazal Writer Deepak Pandit

Mujhe Kisi Se Pyar Nahi lyrics in Hindi, sung by Papon. This ghazal is written by Manoj Muntashir and music composed by Deepak Pandit

Mujhe Kisi Se Pyar Nahi Lyrics in Hindi

मुझे किसी से प्यार नहीं है
आँखें मगर सवाली हैं

मुझे किसी से प्यार नहीं है
आँखें मगर सवाली हैं

कुछ दिन से लगता है जैसे
कुछ दिन से लगता है जैसे
शामें खाली-खाली हैं

मुझे किसी से प्यार नहीं है
आँखें मगर सवाली हैं

गीनके बता सकता हूँ कितने
पत्थर पाओं में चुभते हैं
गीनके बता सकता हूँ कितने
पत्थर पाओं में चुभते हैं

उसके सहर की सारी गालियाँ
उसके सहर की सारी गालियाँ
मेरे देखी भाली हैं

मुझे किसी से प्यार नहीं है
आँखें मगर सवाली हैं

अशकों का शैलाब बदन की
दीवारें भी तोड़ गया
अशकों का शैलाब बदन की
दीवारें भी तोड़ गया

बड़े जतन से तेरी यादें
बड़े जतन से तेरी यादें
मैंने आज सम्भाली हैं

मुझे किसी से प्यार नहीं है
आँखें मगर सवाली हैं
कुछ दिन से लगता है जैसे
शामें खाली-खाली हैं

Mujhe Kisi Se Pyar Nahi Lyrics – Manoj Muntashir, Papon

More Ghazal You May Like
मुझे किसी से प्यार नहीं Mujhe Kisi Se Pyar Nahi
होशवालों Hoshwalon Ko Khabar Kya
मयखाने से शराब से Maikhane Se Sharab Se
चुपके चुपके सखियों से Chupke Chupke Sakhiyon Se
होंठों से छू लो तुम Hothon Se Chhoo Lo Tum

Post a comment

0 Comments